Breaking News
July 1, 2019 - डाक विभाग डिजिटल टेक्नालाजी के साथ कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का  बढ़ा रहा दायरा – डाक निदेशक के के यादव
July 1, 2019 - बिहार के महादलितो को बंधुआगिरी से मिली मुक्ति, न्याय की आस में जंतर मंतर पर धरना
July 1, 2019 - अंतराष्ट्रीय मध्यम एवं लघु उद्योग दिवस के अवसर पर ‘राष्ट्रिय कवि सम्मलेन’- न्यूज़ इंक
July 1, 2019 - डाक टिकटों का शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम योगदान-डाक निदेशक के के यादव
May 31, 2019 - भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, क्षेत्रीय मुख्यालय (उत्तरी क्षेत्र) में विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया गया
May 31, 2019 - नरेंद्र मोदी ने किसको सौंपा कौन सा मंत्रालय ?
May 31, 2019 - राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य व साउथ ईस्ट एशिया में अग्रणी रहने पर राजस्थान को  मिला अवार्ड
May 3, 2019 - इरकॉन ने मनाया 43वां वार्षिक दिवस
डाक विभाग डिजिटल टेक्नालाजी के साथ कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का  बढ़ा रहा दायरा – डाक निदेशक  के के यादव

डाक विभाग डिजिटल टेक्नालाजी के साथ कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का  बढ़ा रहा दायरा – डाक निदेशक के के यादव

 

 

लखनऊ , १ जुलाई २०१९: डाक विभाग ने डिजिटल टेक्नालाजी के साथ अपने को अपडेट करते हुये कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का दायरा बढ़ाया है। शहर से लेकर ग्रामीण स्तर तक डाक सेवाओं में आमूलचूल परिवर्तन किए गए हैं। उक्त उद्गार लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने डिजिटल इण्डिया की चौथी वर्षगांठ पर डाक विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 1 जुलाई, 2015 को ‘डिजिटल इण्डिया’ अभियान का आरम्भ किया था। इस अवसर पर लखनऊ जीपीओ, चौक प्रधान डाकघर सहित तमाम डाकघरों में लोगों को नेट बैंकिंग, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, डाक जीवन बीमा इत्यादि से जोड़ने के लिए कैम्प लगाए गए।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर  चिट्ठी-पत्री और मनी ऑर्डर के साथ-साथ बचत, बीमा, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, ई-कामर्स, आधार जैसी तमाम सेवाएँ दे रहे हैं। डाक सेवाओं को डिजिटल अभियान से जोड़कर इन्हें लोगों के और करीब लाया जा रहा है।  ई-पोस्ट, ई-मनीऑर्डर, इंस्टेंट मनी ऑर्डर, ई-पेमेंट, नेट बैंकिंग के साथ-साथ  ई-कामर्स को बढ़ावा देने हेतु कैश ऑन डिलीवरी, लेटर बाक्स से नियमित डाक निकालने हेतु नन्यथा मोबाईल एप, ग्रामीण शाखा डाकघरों को ‘दर्पण’ प्रोजेक्ट के तहत  हाइटेक बनाने जैसे तमाम कदम विभाग की “डिजिटल इण्डिया” के तहत की गई पहल हैं।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया  कि डाकघरों में कोर इंश्योरेंस, कोर बैंकिंग, एटीएम जैसी तमाम आधुनिक सेवाओं के बाद अब ‘इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक’ के जरिये डाक विभाग अपने ग्राहकों को एनईएफटी/ आरटीजीएस/ आईएमपीएस तथा ऑनलाइन पेमेंट्स की सुविधाएँ भी उपलब्ध करा रहा है। ‘पोस्ट इन्फो’  एप के माध्यम से अपने कन्साइनमेंट की ट्रैकिंग व  डाक जीवन बीमा प्रीमियम, ब्याज दरों तथा पोस्टेज की गणना अब अत्यधिक सरल व सुगम हो गया है। इन सबके साथ, ‘पोस्टमैन मोबाइल’ एप के द्वारा रियल टाइम डिलीवरी का अपडेट भी अब ग्राहकों को तत्काल प्राप्त होगा।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि कोर सिस्टम इंटिग्रेटर आने के बाद से डाक विभाग अपने ग्राहकों को त्वरित, सुव्यवस्थित तथा बेहतर सेवाएं प्रदान करने में सक्षम हुआ है। मेल ऑपरेशन, वित्त व् लेखा, इन्वेंटरी प्रक्योरमेंट, एच.आर. और पे-रोल जैसे तमाम कार्य कोर सिस्टम इंटीग्रेशन के माध्यम से संपन्न हो रहे हैं। विभाग के सभी कागजात, कर्मचारियों की उपस्थिति, पर्सनल डाटा, सर्विस बुक, कर्मचारियों की छुट्टी आदि कार्य आनलाइन हो गया है। कर्मचारियों के सभी कार्यों की प्रगति विभाग के शीर्ष अफसर भी आनलाइन देख सकते हैं। कर्मचारी अपनी समस्याओं के निदान के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर अपनी शिकायत/निवेदन कर सकते हैं। साथ ही ग्राहक भी घर बैठे अपनी सभी समस्याओं का निदान डाकघर की वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

इस अवसर पर प्रवर डाक अधीक्षक शशि कुमार उत्तम, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सर्किल मैनेजर अविनाश सिन्हा, सहायक निदेशक आर. एन. यादव, ब्रांच  मैनेजर स्मृति श्रीवास्तव, सुरेंद्र, डाक निरीक्षक प्रभाकर, प्रियम गुप्ता, आनंद कुमार, शरद कपूर, अखंड प्रताप सिंह सहित तमाम अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।