Breaking News
May 3, 2019 - इरकॉन ने मनाया 43वां वार्षिक दिवस
April 18, 2019 - डाक विभाग को सर्वाधिक व्यवसाय देने वाले संस्थानों को डाक निदेशक केके यादव ने किया सम्मानित 
April 14, 2019 - साहित्यकार व ब्लॉगर आकांक्षा यादव  “स्त्री अस्मिता सम्मान-2019” से  सम्मानित
December 31, 2018 - आम आदमी के हित चिंतक थे लोकबंधु राजनारायण : गोपाल जी राय, लेखक व विचारक
December 31, 2018 - सरकार ने एमआईजी योजना के लिए सीएलएसएस की अवधि 31 मार्च, 2020 तक बढ़ाई
December 17, 2018 - गोपाल जी राय को विद्या सागर सम्मान
December 17, 2018 - श्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री एवं श्री सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
December 4, 2018 - डाक निदेशक केके यादव ने किया दर्पण कोर सिस्टम इंटीग्रेटर का शुभारम्भ
जनता का मिजाज भांपने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं रमन सिंह

जनता का मिजाज भांपने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं रमन सिंह

जांजगीर/चांपा ( छत्तीसगढ़) 20 मार्च 2018: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर जनता का मिजाज भांपने के लिए नक्सल प्रभावित राज्य के गांवों का औचक दौरा कर रहे हैं। बीजेपी की ओर से सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री पद पर बने रहने वाले सिंह को सत्ता विरोधी लहर को हराने की उम्मीद है। बता दें, राज्‍य में इसी साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

उन्होंने गांववालों से उनकी समस्याओं के बारे में पूछा तथा अपने साथ दौरा कर रहे अधिकारियों को ‘लोक सुराज’ नामक पहल के तौर पर ‘तुरंत समाधान’ निकालने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मंगलवार को जांजगीर-चांपा जिले के अकलतारा मंडल में सीमावर्ती गांव अमोरा का दौरा किया और लोगों तथा क्षेत्र के विकास से जुड़े कई मुद्दे सुने।

एक जनसभा में कुछ गांववालों ने सार्वजनिक शौचालयों के खराब निर्माण, बिजली उपलब्ध ना होने और कुछ इलाकों में राशन कार्ड जारी करने में अनियमितताओं को लेकर शिकायत की। रमन सिंह ने जिलाधीश और संबंधित अन्य अधिकारियों को तुरंत इन समस्याओं को हल करने के लिए कहा।

रमन सिंह ने मीडिया से बातचीत में ‘लोक सुराज’ को सुशासन की अनोखी पहल बताया जिसमें लोगों से सीधे संवाद किया जाता है। उन्होंने कहा कि गांवों का दौरा करने की वजह अपने लोगों की परेशानियों को जानना और उनकी समस्याओं को हल करना है। सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उज्जवला योजना के तहत 63 गांवों में एलपीजी गैस और स्टोव वितरित किए। उन्होंने राज्य सरकार की कल्याणकारी योजना के तहत 11 परिवारों को वित्तीय सहायता भी दी।