Breaking News
July 1, 2019 - डाक विभाग डिजिटल टेक्नालाजी के साथ कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का  बढ़ा रहा दायरा – डाक निदेशक के के यादव
July 1, 2019 - बिहार के महादलितो को बंधुआगिरी से मिली मुक्ति, न्याय की आस में जंतर मंतर पर धरना
July 1, 2019 - अंतराष्ट्रीय मध्यम एवं लघु उद्योग दिवस के अवसर पर ‘राष्ट्रिय कवि सम्मलेन’- न्यूज़ इंक
July 1, 2019 - डाक टिकटों का शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम योगदान-डाक निदेशक के के यादव
May 31, 2019 - भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, क्षेत्रीय मुख्यालय (उत्तरी क्षेत्र) में विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया गया
May 31, 2019 - नरेंद्र मोदी ने किसको सौंपा कौन सा मंत्रालय ?
May 31, 2019 - राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य व साउथ ईस्ट एशिया में अग्रणी रहने पर राजस्थान को  मिला अवार्ड
May 3, 2019 - इरकॉन ने मनाया 43वां वार्षिक दिवस
हिंदी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल ही इसका असली सम्मान है-डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव

हिंदी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल ही इसका असली सम्मान है-डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव

जोधपुर: हिन्दी सिर्फ एक भाषा ही नहीं बल्कि हम सबकी पहचान है। हिन्दी अपनी विविधता और समन्यवादी प्रवृत्ति के कारण आमजन की भाषा बनी है। हिन्दी हमारे चारों ओर फैली और छाई हुई है, हमारे संस्कारों में, परिवेश में और वातावरण में। उक्त उद्गारराजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने पोस्टमास्टर जनरल, जोधपुर  कार्यालय में 28 सितंबर को हिन्दी पखवाड़ा के समापन अवसर पर कहीं।

kk3

निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि संवेदना और अनुभूति के स्तर पर हिन्दी से हमारा जो लगाव है, वह अन्य किसी भाषा में नहीं हो सकता।हिंदी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल ही इसका असली सम्मान है। डिजिटल क्रान्ति के इस युग में वेबसाइट्स, ब्लॉग और फेसबुक व टविटर जैसे  सोशल मीडिया ने तो हिन्दी का दायरा और भी बढ़ा दिया है।

सहायक निदेशक राजभाषा  श्री इशरा राम  ने कहा कि हिंदी पूरे देश को जोड़ने वाली भाषा है और सरकारी कामकाज में भी इसे बहुतायत में अपनाये जाने के प्रति हमें संकल्पित होना होगा।

इस अवसर पर हिंदी पखवाड़ा के दौरान पोस्टमास्टर जनरल  में आयोजित कार्यक्रम के विजेताओं को निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने सम्मानित भी किया। हिंदी निबंध प्रतियोगिता में धर्मपाल, राधेश्याम पुरोहित, ओमप्रकाश चांदोरा, हिन्दी टंकण प्रतियोगिता में विनोद पुरोहित, ओमप्रकाश चांदोरा, बी एल भाटी, हिन्दी पत्र लेखन/नोटिंग प्रतियोगिता में धर्मपाल, राधेश्याम पुरोहित, महेश ओझा, वाद-विवाद प्रतियोगिता में अमित कुमार शर्मा, महेश ओझा, काव्य पाठ प्रतियोगिता में विनोद पुरोहित, अनिल कौशिक, मनीष भाटी एवम हिन्दी सुलेख प्रतियोगिता  में देवीलाल, भियाराम, ओमप्रकाश पँवार को क्रमश: प्रथम, द्वितीय व् तृतीय स्थान प्राप्त करने के लिए  पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम में  सहायक निदेशक कान  सिंह राजपुरोहित, वरिष्ठ लेखा अधिकारी एम्. जे. व्यास, सहायक अधीक्षक बी. आर. राठौड़, पुखराज राठौड़, अनिल कौशिक, निरीक्षक सुदर्शन सामरिया, राहुल कुमार, रमेश गुर्जर, जगदीश राजपुरोहित सहित तमाम विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन सहायक डाक डाक तरुण शर्मा और आभार ज्ञापन सहायक डाक अधीक्षक राजेंद्र सिंह भाटी  द्वारा किया गया।