Breaking News
May 3, 2019 - इरकॉन ने मनाया 43वां वार्षिक दिवस
April 18, 2019 - डाक विभाग को सर्वाधिक व्यवसाय देने वाले संस्थानों को डाक निदेशक केके यादव ने किया सम्मानित 
April 14, 2019 - साहित्यकार व ब्लॉगर आकांक्षा यादव  “स्त्री अस्मिता सम्मान-2019” से  सम्मानित
December 31, 2018 - आम आदमी के हित चिंतक थे लोकबंधु राजनारायण : गोपाल जी राय, लेखक व विचारक
December 31, 2018 - सरकार ने एमआईजी योजना के लिए सीएलएसएस की अवधि 31 मार्च, 2020 तक बढ़ाई
December 17, 2018 - गोपाल जी राय को विद्या सागर सम्मान
December 17, 2018 - श्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री एवं श्री सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
December 4, 2018 - डाक निदेशक केके यादव ने किया दर्पण कोर सिस्टम इंटीग्रेटर का शुभारम्भ

यूपी के दो भाइयों की मदद में आगे निकलीं स्मृति

यूपी के प्रतापगढ़ के आईआईटी क्वालिफाइड भाइयों की मदद के लिए मोदी सरकार आगे आई है। मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम के टॉप 500 में जगह बनाने वाले राजू (18) और ब्रजेश (19) फीस माफ करने का एलान किया है। इसके पहले यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दोनों भाइयों की पढ़ाई में मदद की बात कही थी। लेकिन मोदी सरकार ने सपा और कांग्रेस से आगे निकलकर उनकी फीस माफ करने का फैसला किया है। यूपी के इन होनहार भाइयों के पिता धर्मराज दिहाड़ी मजदूर हैं।
भाइयों के पास नहीं थे फीस के पैसे
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) की प्रवेश परीक्षा पास करने वाले उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के राजू और ब्रजेश की फीस माफ करने का निर्णय लिया गया है। दोनों छात्रों ने अच्छे अंकों से आईआईटी एंट्रेंस पास किया है, लेकिन उनके पास फीस भरने के लिए पैसे नहीं है। दोनों भाई प्रतापगढ़ के रेहुआ-लालगंज में एक छोटे से मकान में परिवार के साथ रहते हैं। आईआईटी एंट्रेंस टेस्ट में राजू को 167 और ब्रजेश को 410वीं रैंक मिली है।
राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘आईआईटी प्रवेश परीक्षा पास करने वाले सभी को बधाई। प्रतापगढ़ निवासी बृजेश और राजू से बात की जिन्होंने मुश्किलों के बावजूद इतनी जबर्दस्त सफलता हासिल की।’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी मदद की पेशकश की और घोषणा की कि उनकी सरकार दोनों भाइयों का सम्मान करेगी तथा उनके प्रवेश और पढ़ाई का खर्च उठाएगी।
इसके पहले ट्विटर पर एक महिला ने सरकार से इन बच्चों की मदद करने का आग्रह किया था, जिसके जवाब में स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया, “छात्रों के परिवार को सूचित कर दिया जाए कि उनकी फीस माफ की जाएगी और वे स्कॉलरशिप के पात्र होंगे। जिससे उनके रहने-खाने आदि का खर्च चलता रहेगा।”

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *