Breaking News
November 11, 2020 - वाराणसी प्रधान डाकघर में कॉमन सर्विस सेंटर का पोस्टमास्टर जनरल केके यादव ने किया शुभारम्भ
November 11, 2020 - भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के सभी कार्यालयों में स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन
November 11, 2020 - जनता की सेवा के लिये पहली बार में बने विधायक श्रीकान्त यादव
October 13, 2020 - बच्चों में डाक टिकट संग्रह की अभिरुचि ज्ञानवर्धन के लिए जरूरी : पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव
October 13, 2020 - 113 एकमा विधानसभा के आरजेडी नेता श्रीकांत यादव के साथ दो मिलन समारोह
May 11, 2020 - श्री जामदार राय, समाजसेवी ने पी एम् केयर्स फण्ड में किया 11 लाख का योगदान
March 20, 2020 - कोरोना से बचाव के लिए डाकघरों में हुए विशेष प्रबंध
March 20, 2020 - कमलनाथ ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा
डॉ. जितेंद्र सिंह ने  स्‍कोवा बैठक का उद्घाटन किया

डॉ. जितेंद्र सिंह ने स्‍कोवा बैठक का उद्घाटन किया

केंद्रीय पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास (डोनर) राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष राज्‍य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह कल यहां स्‍वयंसेवी एजेंसियों की स्‍थायी समिति (स्‍कोवा) की 27वीं बैठक का उद्घाटन करेंगे।

स्‍कोवा बैठक में 3 फरवरी, 2015 को आयोजित स्‍वयंसेवी एजेंसियों की स्‍थायी समिति (स्‍कोवा) की 26वीं बैठक में उठाए गए बिंदुओं पर कार्रवाई रिपोर्ट (एटीआर) पर विचार विमर्श किया जाएगा। सचिव (पेंशन) की अध्‍यक्षता में 25 सितंबर, 2014 को पेंशन के मामलों पर संयुक्‍त सलाहकार तंत्र (जेसीएम) बैठक के दौरान लिए गए निर्णयों पर प्रगति की भी समीक्षा की जाएगी।

सरकार ने पेंशन एवं संबंधित दस्‍तावेजों की आपूर्ति को अधिक सुविधाजनक बनाने और इसमें कम समय लगे, इसकी व्‍यवस्‍था करने के लिए कई अभिनव कदमों की घोषणा की है जैसे कि प्रधानमंत्री द्वारा 11 नंवबर, 2014 को शुरू आधारित ‘जीवन प्रमाण पैकेज’ जो पेंशनधारियों को उनके जीवन प्रमाण पत्रों को डिजिटल फॉर्मेट में ऑनलाइन रजिस्‍टर करने में सक्षम बनाता है। ई-गवर्नेंस योजना के एक हिस्‍से के रूप में पेंशन विभाग ने एक वेब आधारित पेंशनर्स पोर्टल की शुरूआत की है जो देश भर में पेंशनरों के लिए एकल सूचना केंद्र के रूप में काम करता है। ‘भविष्‍य’ नामक एक ऑनलाइन पेंशन मंजूरी एवं पेमेंट पैकिंग सिस्‍टम भी शुरू की गई है जिससे पहले ही 25 केंद्रीय मंत्रालय एवं विभाग जुड़ चुके हैं।

Related Articles