Breaking News
May 11, 2020 - श्री जामदार राय, समाजसेवी ने पी एम् केयर्स फण्ड में किया 11 लाख का योगदान
March 20, 2020 - कोरोना से बचाव के लिए डाकघरों में हुए विशेष प्रबंध
March 20, 2020 - कमलनाथ ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा
March 20, 2020 - चंद्रप्रकाश राज अध्यक्ष व पंकज श्रीवास्तव महासचिव बने
March 18, 2020 - प्रत्येक ट्रिप के पूर्व बसों को सैनिटाइजर करें-जिलाधिकारी
February 28, 2020 - केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री को लिखा पत्र- जल शक्ति मिशन में राजस्थान के लिए 90 प्रतिशत अंशदान – मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत
February 28, 2020 - सारण जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए जिलाधिकारी ने दिया शक्त निर्देश
February 26, 2020 - भवन निर्माण तकनीकी में बदलाव जरुरी -जिलाधिकारी सारण
चौथा अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन मार्ट 14-16 अक्‍टूबर को गंगटोक में आयोजित

चौथा अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन मार्ट 14-16 अक्‍टूबर को गंगटोक में आयोजित

चौथा अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन मार्ट 14-16 अक्‍टूबर, 2015 को गंगटोक में आयोजित किया जाएगा। यह घोषणा आज नई दिल्‍ली में संवाददाता सम्‍मेलन में संस्‍कृति (स्‍वतंत्र प्रभार), पर्यटन (स्‍वतंत्र प्रभार) तथा नागर विमानन राज्‍य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने की। इस वर्ष के आईटीएम में 27 देशों के अंतर्राष्‍ट्रीय खरीदार और मीडिया प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि आईटीएम में पूर्वोत्‍तर राज्‍यों की समृद्धि पर्यटन क्षमता को दिखाया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी पूर्वोत्‍तर तथा पूर्वोत्‍तर क्षेत्र को प्राथमिकता देते हैं और मंत्रालय का बल क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने पर है। इन प्रयासों से 2014 में विदेशी पर्यटकों का पूर्वोत्‍तर आगमन 39.8 प्रतिशत बढ़ा। 2012 की तुलना में 2013 में विदेशी पर्यटकों के पूर्वोत्‍तर आगमन में 27.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि पूर्वोत्‍तर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए संपर्क में सुधार महत्‍वपूर्ण है और इसके लिए सरकार ने नये प्रयास किये हैं। इस दिशा में प्रमुख कदम गुवाहाटी को केन्‍द्र बनाना है, ताकि पूर्वोत्‍तर से बेहतर संपर्क स्‍थापित हो सकें। सरकार ने गुवाहाटी हवाई अड्डे के विकास के लिए 1200 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं। पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में पवन हंस सेवा के सहयोग से गुवाहाटी हैलिकॉप्‍टर केन्‍द्र के रूप में काम कर रहा है। यह दो महीने पहले शुरू हुआ। डॉ. महेश शर्मा ने बताया कि अगरतला हवाई अड्डे को उन्‍नत बनाने के लिए 484 करोड़ रुपये तथा तेजू (अरूणाचल प्रदेश) हवाई अड्डा को उन्‍नत बनाने के लिए 90 करोड़ रुपये मंजूर किये गये हैं। पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में पर्यटन को प्रोत्‍साहित करने के लिए मजुली, तवांग और कामाख्‍या में तीन परियोजनाओं पर पर्यटन मंत्रालय काम कर रहा है। पर्यटन मंत्रालय की स्‍वदेश दर्शन (पूर्वोत्‍तर सर्किट) तथा प्रसाद योजनाओं के अंतर्गत 250 करोड़ रुपये मंजूर किये गये हैं।

डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र की पूरी क्षमता प्राप्‍त करने के लिए हमें 2020 तक विश्‍व पर्यटन में अपनी हिस्‍सेदारी 9.68 प्रतिशत से बढ़ाकर एक प्रतिशत करने की आवश्‍यकता है। उन्‍होंने कहा कि पर्यटन से महिलाओं को अधिकार मिलते हैं और युवाओं को रोजगार। उन्‍होंने पर्यटन मंत्रालय के ‘’स्‍वच्‍छता, सुरक्षा और अतिथ्‍य‘’ नारे को भी दोहराया। डॉ. महेश शर्मा ने बताया कि ई-वीजा सुविधा 113 देशों को दी गई है और अगले वर्ष मार्च तक इसका विस्‍तार कर 150 देशों तक किया जाएगा।