Breaking News
July 1, 2019 - डाक विभाग डिजिटल टेक्नालाजी के साथ कस्टमर-फ्रेंडली सेवाओं का  बढ़ा रहा दायरा – डाक निदेशक के के यादव
July 1, 2019 - बिहार के महादलितो को बंधुआगिरी से मिली मुक्ति, न्याय की आस में जंतर मंतर पर धरना
July 1, 2019 - अंतराष्ट्रीय मध्यम एवं लघु उद्योग दिवस के अवसर पर ‘राष्ट्रिय कवि सम्मलेन’- न्यूज़ इंक
July 1, 2019 - डाक टिकटों का शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम योगदान-डाक निदेशक के के यादव
May 31, 2019 - भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, क्षेत्रीय मुख्यालय (उत्तरी क्षेत्र) में विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया गया
May 31, 2019 - नरेंद्र मोदी ने किसको सौंपा कौन सा मंत्रालय ?
May 31, 2019 - राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य व साउथ ईस्ट एशिया में अग्रणी रहने पर राजस्थान को  मिला अवार्ड
May 3, 2019 - इरकॉन ने मनाया 43वां वार्षिक दिवस
गृह मंत्रालय द्वारा हिंदी दिवस समारोह का आयोजन

गृह मंत्रालय द्वारा हिंदी दिवस समारोह का आयोजन

हिन्‍दी दिवस के उपलक्ष्‍य पर राष्‍ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने आज यहां एक समारोह में वर्ष 2014-15 के राजभाषा पुरस्‍कार प्रदान किए। समारोह को संबोधित करते हुए राष्‍ट्रपति ने आह्वान किया कि हिन्‍दी के प्रयोग को तकनीकी संस्‍थानों में बढ़ावा देना चाहिए और सरल भाषा में अनुवाद अपनाना चाहिए। श्री मुखर्जी ने संतोष व्‍यक्‍त किया कि संचार और सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में हिन्‍दी का प्रयोग बढ़ा है। राष्‍ट्रपति ने टिप्‍पणी की कि हिन्‍दी हमारी संस्‍कृति और इतिहास को वर्तमान से जोड़ने वाली कड़ी है। उन्‍होंने आशा जताई कि निकट भविष्‍य में हिन्‍दी को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ में राजभाषा का दर्जा प्राप्‍त होगा।

अपने अध्‍यक्षीय भाषण में केन्‍द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने अफसोस जताया कि हमने हिन्‍दी को राजभाषा का दर्जा वर्ष 1949 में जरूरी दिया पर इस पर उम्‍मीद से कम अमल किया और हिन्‍दी को उचित सम्‍मान नहीं दिया। उन्‍होंने इस तर्क को मिथ्‍य बताया कि दक्षिण भारत में लोग हिन्‍दी की बजाया अंग्रेजी भाषा को अधिक महत्‍व देते हैं। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतवर्ष की 75 प्रतिशत से अधिक जनसंख्‍या हिन्‍दी को समझ या बोल सकती है। उन्‍होंने कहा कि गैर-हिन्‍दी भाषी प्रदेश के अग्रणी नेता जैसे मराठी भाषी बाल गंगाधर तिलक, तमिल भाषी एन. गोपाला स्‍वामी अय्यर और गुजरात के स्‍वामी दयानन्‍द सरस्‍वती ने हिन्‍दी भाषा को राष्‍ट्र भाषा का दर्जा देने के लिए योगदान दिया। गृह मंत्री ने कहा कि हाल के वर्षों में हाईटेक सॉफ्टवेयर कंपनियों ने हिन्‍दी के प्रयोग को बढ़ावा दिया है। उन्‍होंने बताया कि देश में इंटरनेट पर 94 प्रतिशत सामग्री हिन्‍दी में उपज होती है। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हम भारत को महाशक्ति के रूप में नहीं, अपितु जगत गुरु के रूप में उभारना चाहते हैं। उन्‍होंने सरकारी कर्मचारियों से कहा कि आज हिन्‍दी दिवस के उपलक्ष्‍य में हम यह शपथ लें कि शुरूआत में कम से कम अपना हस्‍ताक्षर हिन्‍दी में करें।

Related Articles