Breaking News
May 11, 2020 - श्री जामदार राय, समाजसेवी ने पी एम् केयर्स फण्ड में किया 11 लाख का योगदान
March 20, 2020 - कोरोना से बचाव के लिए डाकघरों में हुए विशेष प्रबंध
March 20, 2020 - कमलनाथ ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा
March 20, 2020 - चंद्रप्रकाश राज अध्यक्ष व पंकज श्रीवास्तव महासचिव बने
March 18, 2020 - प्रत्येक ट्रिप के पूर्व बसों को सैनिटाइजर करें-जिलाधिकारी
February 28, 2020 - केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री को लिखा पत्र- जल शक्ति मिशन में राजस्थान के लिए 90 प्रतिशत अंशदान – मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत
February 28, 2020 - सारण जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए जिलाधिकारी ने दिया शक्त निर्देश
February 26, 2020 - भवन निर्माण तकनीकी में बदलाव जरुरी -जिलाधिकारी सारण
राजस्थान के चार शहरों को ’’शहर स्तरीय स्मार्ट सिटी प्लॉन‘‘ लिए दो करोड़ रूपये

राजस्थान के चार शहरों को ’’शहर स्तरीय स्मार्ट सिटी प्लॉन‘‘ लिए दो करोड़ रूपये

नई दिल्ली, 04 सितम्बर, 2015। स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत चयनित राजस्थान के चार शहरों अजमेर, उदयपुर, कोटा एवं जयपुर को प्रारंभिक ’’शहर स्तरीय स्मार्ट सिटी प्लॉन‘‘बनाने के लिए दो-दो करोड़ रूपये प्रदान किये गये है।

नई दिल्ली के होटल अशोक में आयोजित ’’स्मार्ट सिटी मिशन‘‘ के अन्तर्गत ’’क्षेत्रीय वर्कशॉप‘‘में भाग लेते हुए राजस्थान स्थानीय निकाय विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. मंजीत सिंह ने बताया कि राजस्थान के इन चारों शहरों को आगामी तीन माह में यह एक्शन प्लॉन तैयार करके केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। इसके बाद आगे की वित्तीय जरूरतों को निर्धारण किया जायेगा।

श्री सिंह ने बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत् विकसित किये जाने वाले राजस्थान के चारों शहरों को विश्व स्तरीय सुविधाओं से सुसज्जित किया जायेगा। जिसके विकास में स्थानीय लोगों की भागीदारी को भी सुुनिश्चित करने की पूर्ण कार्य योजना बनाई जायेगी। श्री सिंह ने बताया कि कार्यशाला के दौरान स्मार्ट सिटी के रूप में चयनित शहरों के विकास के लिए विभिन्न पहलूओं पर चर्चा की गई। वर्कशॉप में कई विदेशी विशेषज्ञों ने भी ’’स्मार्ट सिटी एक्शन प्लॉन‘‘ पर उपस्थित प्रतिनिधि को संबोधित करके अपने अनुभवों को साझा किया।

श्री सिंह ने बताया कि वर्कशॉप में सम्पूर्ण देश के चयनित शहरों को स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने के लिए बनाई गई कार्य योजना, इसमें स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने, विकास से पड़ने वाले आर्थिक एवं पर्यावरणीय प्रभावों के विभिन्न तकनीकी पहलूओं पर विस्तार से विचार विमर्श किया गया। इस क्षेत्रीय वर्कशॉप में उत्तरी भारत के दस राज्यों सहित गुजरात के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

कार्यशाला का शुभारंभ केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वैंकेया नायडु ने किया। कार्यशाला में राजस्थान के चारों शहरों  अजमेर, उदयपुर, जयपुर और कोटा के जिला कलेक्टर, नगर निगम आयुक्त एवं महापौराें ने भाग लिया।

 

Related Articles