Breaking News
October 3, 2018 - जयपुर की द्रव्यवती नदी हुई पुनर्जीवित
September 30, 2018 - सरकारें राजभाषा और राष्ट्रभाषा पर सिर्फ राजनीति कर सकती है हिन्दी को समृद नही कर सकती – डॉ ओमप्रकाश सिंह
June 29, 2018 - डाक विभाग द्वारा माउन्ट आबू में ‘फिलेटलिक सेमिनार’ व ‘ढाई आखर’ पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन
June 29, 2018 - स्वामी सहजानन्द सरस्वती: शायद इतिहास खुद को नहीं दुहरा पाएगा!-गोपाल जी राय
June 18, 2018 - नीति आयोग की बैठक में CM योगी बोले हमारी सरकार “सबका साथ, सबका विकास” के सिद्धांत पर काम कर रही है
June 18, 2018 - उपराष्ट्रपति आज श्री अटल विहारी बाजपाई से मिलने AIIMS पहुचे
March 31, 2018 - राजस्थान दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं का सम्मान
March 24, 2018 - प्रदेश में बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम को प्रभावी ढ़ंग से लागू करें
मुख्यमंत्री ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के कार्य-कलापों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के कार्य-कलापों की समीक्षा की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज यहां माध्यमिक शिक्षा विभाग के कार्य-कलापों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार माॅडल स्कूलों को नवोदय स्कूलों की तर्ज पर विकसित करेगी और आवश्यकता पड़ने पर इन स्कूलों को सी0बी0एस0ई0 बोर्ड से सम्बद्ध करने की कार्यवाही भी की जाएगी।
श्री यादव ने समीक्षा के दौरान वरिष्ठ अधिकारियों को माध्यमिक शिक्षा व्यवस्था सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने आवश्यकतानुसार शिक्षा में आ रहे बदलावों को भी समायोजित करने के निर्देश दिए, ताकि विद्यार्थी समय की मांग के अनुसार आगे बढ़ सकें और भविष्य में देश व प्रदेश के विकास में अपना योगदान दे सकें। उन्होंने सभी स्तर पर शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने की आवश्यकता पर बल दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के छात्रों को हर स्तर पर अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए गम्भीरता से प्रयास कर रही है, क्योंकि अच्छी शिक्षा के बगैर कोई भी समाज अथवा देश प्रगति नहीं कर सकता है। इसलिए राज्य सरकार प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च तथा तकनीकी शिक्षा पर पूरा ध्यान केन्द्रित कर रही है।
श्री यादव ने कहा कि शिक्षा के महत्व एवं सामाजिक उत्थान हेतु इसकी उपयोगिता से सभी भलीभांति परिचित हैं। शिक्षा से न केवल बौद्धिक विकास होता है, अपितु रूढि़वादिता एवं अंधविश्वास से मुक्त एक बेहतर समाज का निर्माण होता है। राज्य सरकार ने शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं को उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है। हर स्तर के विद्यालयों की स्थापना के साथ-साथ नये विश्वविद्यालय भी विकसित किए जा रहे हैं। राज्य सरकार की मंशा है कि गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ-साथ सभी को पढ़ाई का अवसर मिले। इसके मद्देनजर सरकार लगातार काम कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा के स्तर में सुधार लाने से देश और समाज का भविष्य बेहतर बनेगा। देश में समान शिक्षा प्रणाली पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए सरकार के साथ-साथ समाज के साधन सम्पन्न लोगों की भी जिम्मेदारी है।

Related Articles

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *