Breaking News
June 29, 2018 - डाक विभाग द्वारा माउन्ट आबू में ‘फिलेटलिक सेमिनार’ व ‘ढाई आखर’ पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन
June 29, 2018 - स्वामी सहजानन्द सरस्वती: शायद इतिहास खुद को नहीं दुहरा पाएगा!-गोपाल जी राय
June 18, 2018 - नीति आयोग की बैठक में CM योगी बोले हमारी सरकार “सबका साथ, सबका विकास” के सिद्धांत पर काम कर रही है
June 18, 2018 - उपराष्ट्रपति आज श्री अटल विहारी बाजपाई से मिलने AIIMS पहुचे
March 31, 2018 - राजस्थान दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं का सम्मान
March 24, 2018 - प्रदेश में बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम को प्रभावी ढ़ंग से लागू करें
March 24, 2018 - युवा विकास प्रेरक समीक्षा एवं मार्गदर्शन आमजन तक पहुंचाएं गुड गवर्नेंस का लाभ – मुख्यमंत्री
March 24, 2018 - विश्व क्षय दिवस पर प्रधानमंत्री का संदेश
जनता का मिजाज भांपने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं रमन सिंह

जनता का मिजाज भांपने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं रमन सिंह

जांजगीर/चांपा ( छत्तीसगढ़) 20 मार्च 2018: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर जनता का मिजाज भांपने के लिए नक्सल प्रभावित राज्य के गांवों का औचक दौरा कर रहे हैं। बीजेपी की ओर से सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री पद पर बने रहने वाले सिंह को सत्ता विरोधी लहर को हराने की उम्मीद है। बता दें, राज्‍य में इसी साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

उन्होंने गांववालों से उनकी समस्याओं के बारे में पूछा तथा अपने साथ दौरा कर रहे अधिकारियों को ‘लोक सुराज’ नामक पहल के तौर पर ‘तुरंत समाधान’ निकालने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मंगलवार को जांजगीर-चांपा जिले के अकलतारा मंडल में सीमावर्ती गांव अमोरा का दौरा किया और लोगों तथा क्षेत्र के विकास से जुड़े कई मुद्दे सुने।

एक जनसभा में कुछ गांववालों ने सार्वजनिक शौचालयों के खराब निर्माण, बिजली उपलब्ध ना होने और कुछ इलाकों में राशन कार्ड जारी करने में अनियमितताओं को लेकर शिकायत की। रमन सिंह ने जिलाधीश और संबंधित अन्य अधिकारियों को तुरंत इन समस्याओं को हल करने के लिए कहा।

रमन सिंह ने मीडिया से बातचीत में ‘लोक सुराज’ को सुशासन की अनोखी पहल बताया जिसमें लोगों से सीधे संवाद किया जाता है। उन्होंने कहा कि गांवों का दौरा करने की वजह अपने लोगों की परेशानियों को जानना और उनकी समस्याओं को हल करना है। सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उज्जवला योजना के तहत 63 गांवों में एलपीजी गैस और स्टोव वितरित किए। उन्होंने राज्य सरकार की कल्याणकारी योजना के तहत 11 परिवारों को वित्तीय सहायता भी दी।