Breaking News
December 31, 2018 - आम आदमी के हित चिंतक थे लोकबंधु राजनारायण : गोपाल जी राय, लेखक व विचारक
December 31, 2018 - सरकार ने एमआईजी योजना के लिए सीएलएसएस की अवधि 31 मार्च, 2020 तक बढ़ाई
December 17, 2018 - गोपाल जी राय को विद्या सागर सम्मान
December 17, 2018 - श्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री एवं श्री सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
December 4, 2018 - डाक निदेशक केके यादव ने किया दर्पण कोर सिस्टम इंटीग्रेटर का शुभारम्भ
October 3, 2018 - जयपुर की द्रव्यवती नदी हुई पुनर्जीवित
September 30, 2018 - सरकारें राजभाषा और राष्ट्रभाषा पर सिर्फ राजनीति कर सकती है हिन्दी को समृद नही कर सकती – डॉ ओमप्रकाश सिंह
June 29, 2018 - डाक विभाग द्वारा माउन्ट आबू में ‘फिलेटलिक सेमिनार’ व ‘ढाई आखर’ पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन
आईटी कार्निवल में आयोजित कार्यशालाओं में स्टार्टअप और शिक्षार्थियों ने सीखे उद्यमिता के नये गुर

आईटी कार्निवल में आयोजित कार्यशालाओं में स्टार्टअप और शिक्षार्थियों ने सीखे उद्यमिता के नये गुर

जयपुर, 19 मार्च 2018:  स्टार्टअप एवं आईटी क्षेत्र में नई संभावनाओं को आगे बढ़ाने, देश-प्रदेश की प्रतिभाओं को मंच प्रदान करने और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए जयपुर में आयोजित आईटी कार्निवल के दूसरे दिन मंगलवार को उभरते स्टार्टअप और शिक्षार्थियों के लिए प्रतिष्ठित वक्ताओं द्वारा विचार-विमर्श के कई सत्र आयोजित किये गये।
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा चार दिवसीय आईटी कार्निवल के दूसरे दिन इंदिरा गांधी पंचायतीराज संस्थान में आयोजित कार्यशालाओं में दो हजार से भी अधिक प्रतिभागियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। इन ज्ञानवर्धक कार्यशालाओं के माध्यम से प्रतिभागियों ने कई नवाचारों के बारे में जानकारी हासिल की।
कार्यशालाओं में विभिन्न सत्रों में विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श किया गया। इण्डियन एंजल नेटवर्क के सेण्ड्रो स्टीफन ने आईडिया जनरेशन एवं वेलीडेशन विषय पर अपने विचार रखते हुए निवेशकों को समझने और बेहतर फण्ड जनरेशन के लिए सुझाव साझा किये गये।
आओ होटल्स के संस्थापक तथा एचपी में परामर्शदाता, महेन्द्र पायती ने ‘स्केलिंग अप योर बिजनेस’ सत्र में अपने विचार रखें। उन्होंने व्यवसाय की सफलता में तकनीक और सही रणनीति के महत्व के बारे में बात की और कहा कि सोशल मीडिया किसी भी व्यवसाय की सफलता में महत्वपूर्ण कड़ी साबित हो सकता है।
 इसके अतिरिक्त ‘विनिंग इन योर मार्केट’, ‘डिपलोइंग टेक्नोलोजी फॅार डवलपमेंट’ तथा ‘जीआईएस स्किल बिल्डिंग’ जैसे विषयों पर भी एक्सपर्ट्स एवं वक्ताओं द्वारा जानकारी दी गई। कार्यशाला के दौरान क्विज का भी आयोजन किया गया। प्रतिभागियों ने स्टार्ट अप और तकनीक से संबंधी प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया।