Breaking News
November 9, 2017 - एक सरप्राइज रिजल्ट की ओर बड़ता हुआ हिमाचल चुनाव
October 27, 2017 - डाक निदेशक श्री केके यादव और उनकी पत्नीआकांक्षा जी ‘शब्द निष्ठा सम्मान’ से सम्मानित हुए
September 30, 2017 - अब डाक टिकटों पर दिखेगी रामायण- डाक विभाग ने जारी किया 11 डाक टिकटों का सेट : श्री कृष्ण कुमार यादव
September 30, 2017 - 85वां वायु सेना दिवस के अवसर पर 8 अक्टूबर को वायु प्रदर्शन
September 30, 2017 - भारत अवैध वन्‍य जीवन व्‍यापार की समस्‍या पर ध्‍यान देने के लिए वैश्विक वन्‍य जीवन कार्यक्रम की मेजबानी करेगा: डा. हर्षवर्धन
September 30, 2017 - राष्‍ट्रपति ने दशहरे के शुभ अवसर पर देश वासियों को बधाई दी
September 30, 2017 - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने शारदीय नवरात्रि एवं विजयदशमी (दशहरा) पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी
September 8, 2017 - एक सहभागी, जीवंत और समावेशी लोकतंत्र बनाने की दिशा में साक्षरता अवश्यक कदम है- उपराष्ट्रपति
क्या वास्तव में योगी एक लम्बी पारी खेल पायेंगे ?

क्या वास्तव में योगी एक लम्बी पारी खेल पायेंगे ?

लखनऊ (उत्तर प्रदेश ) : लखनऊ से लेकर दिल्ली तक उत्तर प्रदेश के मौजूदा मुख्य मंत्री श्री योगी आदित्यनाथ महाराज जी पूरी मीडिया में छाये हुए है | कुछ सूत्रों का कहना है कि योगी आदित्यनाथ अपनी कुर्शी बचाने में लगे है | उनकी पार्टी में ही उनको लेकर मतभेद बना हुआ है | एक धड़ा तो दिल से उनको सपोर्ट कर रहा है और दूसरा धड़ा बस मौके के तलाश में है | लेकिन इस बीच योगी जी जनता में छाये हुए है, उनके विचार और त्वरित फैसलों से किसान, मुस्लिम महिलाये एवं निचला तबका काफी खुश नज़र आ रहा है |

नौकरशाहों की माने तो उनकी राय है की योगी जी कुछ  महीनो के मेहमान है, क्योंकि केंद्र में बैठे नेताओ को २०१९ का चुनाव दिखाई  पड़ रहा है और अगर योगी आदित्यनाथ अपनी हिंदुत्व कट्टर वादिता छोड़ने   में सफल रहे और उत्तर प्रदेश में विकाश करने में तत्परता दिखाया तो ही वे टिक पाएंगे नही तो उनका जाना तय है |

उनको विकाश के मुद्दे पर कायम रखने एवं उन पर केन्द्रीय कमान का दबदबा बनाये रखने के लिए ही दो-दो उप मुख्यमंत्री बनाये गए | अतः  यह देखना होगा की योगी आदित्यनाथ इस परिस्थिति में अपने आप को कैसे ढाल पाते है |