Breaking News
December 4, 2018 - डाक निदेशक केके यादव ने किया दर्पण कोर सिस्टम इंटीग्रेटर का शुभारम्भ
October 3, 2018 - जयपुर की द्रव्यवती नदी हुई पुनर्जीवित
September 30, 2018 - सरकारें राजभाषा और राष्ट्रभाषा पर सिर्फ राजनीति कर सकती है हिन्दी को समृद नही कर सकती – डॉ ओमप्रकाश सिंह
June 29, 2018 - डाक विभाग द्वारा माउन्ट आबू में ‘फिलेटलिक सेमिनार’ व ‘ढाई आखर’ पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन
June 29, 2018 - स्वामी सहजानन्द सरस्वती: शायद इतिहास खुद को नहीं दुहरा पाएगा!-गोपाल जी राय
June 18, 2018 - नीति आयोग की बैठक में CM योगी बोले हमारी सरकार “सबका साथ, सबका विकास” के सिद्धांत पर काम कर रही है
June 18, 2018 - उपराष्ट्रपति आज श्री अटल विहारी बाजपाई से मिलने AIIMS पहुचे
March 31, 2018 - राजस्थान दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं का सम्मान
पाकिस्तान को मिलेगा कड़ा जवाब-मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे 

पाकिस्तान को मिलेगा कड़ा जवाब-मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे 

नई दिल्ली, 21 सितम्बर, 2016। देशभक्ति से लबरेज हजारों युवाओं ने राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की मौजूदगी में बुधवार को जयपुर के अमरूदों के बाग में राष्ट्र गीत वन्देमातरम् का गायन कर अपने जज्बे का इजहार किया। इस माहौल से अभिभूत मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने मंच पर तिरंगा लहराकर देश के लिए मर मिटने का संदेश दिया। उनके साथ-साथ मंत्रिपरिषद के सदस्यों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी तिरंगा लहराया और भारत माता के जयकारे लगाए।
DSC_2521
संगीतकार पण्डित आलोक भट्ट एवं श्री विक्रम हाजरा के निर्देशन में देश के 11 राज्यों से आए 504 कलाकारों ने सामूहिक रूप से देश भक्ति गीतों की प्रस्तुतियां दी तो पूरा जनसमुदाय जोश से भर उठा और चहुंओर भारत माता के जयकारे गूंज उठे।
हिन्दू आध्यात्मिक एवं सेवा फाउण्डेशन की ओर से आयोजित इस वन्देमातरम् कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने कहा कि देश को एकता के सूत्र में बांधने वाला ’वन्देमातरम्’ गीत हमारे रोम-रोम में बसा है। हम भारत माता के चरणों को चूमते हुए सभी 36 कौमों को साथ लेकर देश के लिए मर मिटेंगे।
श्रीमती राजे ने हाल ही में कश्मीर के उरी में शहीद हुए जवानों को नमन करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने जो दुस्साहस किया है उसे हम कभी नहीं भूलेंगे और इसका कड़ा जवाब देंगे। उन्होंने देश एवं प्रदेश को सर्वोपरि मानते हुए सभी को वृक्षों, नागदेवता, गौमाता, गंगामाता, धरती माता, शिक्षक, नारी शक्ति, माता-पिता तथा राष्ट्र नायकों के सम्मान, वन्दन एवं रक्षा की शपथ दिलाई।
इससे पहले कार्यक्रम के मार्गदर्शक श्री गुणवंत सिंह कोठारी ने बताया कि देश की युवा पीढ़ी को सेवा कार्यों से जोड़ने के लिए इस बार देश के 12 शहरों में वन्देमातरम् कार्यक्रम एवं सेवा मेला का भव्य आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने आयोजक संस्था द्वारा चलाये जा रहे सेवा प्रकल्पों की जानकारी दी।
कार्यक्रम से जुडे़ डॉ. सुभाष बापना, श्री अनुराग अग्रवाल, श्री अमित अग्रवाल, श्री सोमकान्त शर्मा सहित आयोजन समिति के अन्य पदाधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर राज्य मंत्री परिषद के सदस्य, सांसद, विधायक, विभिन्न आयोगों एवं निगमों के अध्यक्ष, बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, अर्जुन पुरस्कार विजेता खिलाड़ी, 600 दिव्यांग बच्चे, कॉलेज एवं स्कूली छात्र-छात्राओं सहित गणमान्य नागरिक, वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।
कार्यक्रम के अन्त में एक मिनट का मौन रखकर उरी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
………………………….